सैमसंग के 60 करोड़ मोबाइल हैकर्स के कंट्रोल मे...

सैमसंग मोबाइल यूजर्स को दिक्कत का सामना करना पड़ सकता है। एक रिपोर्ट के अनुसार सैमसंग के एंड्रॉइड कीबोर्ड ऐप में एक बग आ गया है। इसके कारण 60 करोड़ सैमसंग मोबाइल हैकर्स के कंट्रोल में आ सकते हैं। ये सिक्युरिटी बग एंड्रॉइड बिल्ट इन कीबोर्ड के अपडेट के जरिए आया है। ये किसी आम अपडेट की तरह लगता है। ये सिक्युरिटी बग 'स्विफ्ट की' कीबोर्ड के जरिए आया है जो सैमसंग के करीब 60 करोड़ हैंडसेट्स में पहले से ही इंस्टॉल्ड है।

क्यों है सबसे ज्यादा खतरनाक
मोबाइल सिक्युरिटी कंपनी NowSecure के अनुसार ये बग बहुत खतरनाक है क्योंकि इसके बारे में यूजर्स कुछ कर नहीं सकते हैं। ये ऐप पहले से ही इंस्टॉल्ड है और इसे अनइंस्टॉल नहीं किया जा सकता है।

क्या होता है बग?
एक सॉफ्टवेयर बग कोई एरर, गलती, फेलियर या फॉल्ट हो सकता है जिसके कारण कोई भी सॉफ्टवेयर सही काम नहीं कर पाता। अगर किसी सॉफ्टवेयर में बग है तो वो उस तरह से काम नहीं करेगा जैसा उसे करना चाहिए।

कौन-कौन से डिवाइसेस हैं इन्फेक्टेड
इस बग से गैलेक्सी S6, S5, S4 और S4 मिनी और सभी हाई-एंड डिवाइसेस इफेक्टेड हैं। सैमसंग के अनुसार अगले कुछ दिनों में ये प्रॉब्लम फिक्स कर दी जाएगी। कंपनी द्वारा दिए गए स्टेटमेंट के अनुसार सैमसंग स्विफ्टकी कंपनी के साथ भी काम कर रही है जिससे इस समस्या को जल्द से जल्द सही किया जा सके।

मेबाइल में सेव डिटेल्स चोरी होने का खतरा
इस सिक्युरिटी बग के चलते यूजर्स के मोबाइल में सेव किए गए बैंक अकाउंट डिटेल्स, क्रेडिट कार्ड नंबर, पर्सनल डिटेल्स आदि चोरी हो सकती हैं। इसके अलावा, यूजर्स के ईमेल और पासवर्ड क्लू भी चोरी हो सकते हैं। NowSecure की रिपोर्ट के अनुसार अगर यूजर्स के आस-पास को हैकर होगा तो वो इस बग के जरिए कैसी भी डिटेल्स निकाल सकता है। रिपोर्ट के अनुसार सैमसंग को इस बग के बारे में दिसंबर 2014 में बता दिया गया था।

कैसे बचें-
NowSecure के अनुसार इससे बचने के लिए यूजर्स इन्सिक्योर वाई-फाई नेटवर्क से दूर रहें। इसके अलावा, अपने डिवाइस में स्विफ्टकी ऐप का इस्तेमाल ना करें। हालांकि, हैकर्स के लिए इसके बाद भी डिवाइस को हैक करने का ऑप्शन होगा।

Samsung mobile Hacking problem | Bug leaves  | security | Users warning 

Share on Google Plus

About Bhopal Samachar

This is a short description in the author block about the author. You edit it by entering text in the "Biographical Info" field in the user admin panel.