प्रत्युषा जिंदगी को बेहद आसान समझ कर जीती थी: Kamya Punjabi

नई दिल्ली: 19 साल की प्रत्यूषा बनर्जी को टीवी पर आनंदी के किरदार में दुनिया ने देखा. आज एक अप्रैल है और आज ही के दिन पिछले साल मशहूर टीवी एक्ट्रेस प्रत्यूषा बैनर्जी ने गोरेगांव के अपने घर पर खुदकुशी कर ली थी. कलर्स टीवी के मशहूर सीरियल ‘बालिका वधू’ के उनके आंनदी के किरदार को लोगों ने खूब पसंद किया था. उनके प्रेमी राहुल राज सिंह को प्रत्यूषा की खुदकुशी से जुड़े आरोपों में गिरफ्तार किया गया था लेकिन जल्द ही उन्हें जमानत पर रिहा कर दिया गया.

सपने देखना और उसे पूरा करने का जुनून हर उस महत्वाकांक्षी शख्स के जेहन में लगातार कुलबुलाता रहता जो दुनिया में कुछ अलग हट कर अपनी एक अगल पहचान बनना चाहता हो. 10 अगस्त 1991 झारखंड के छोटे से शरह जमशेदपुर में जन्मी प्रत्यूषा बनर्जी के सपने उनके शहर से कई ज्यादा बड़े थे. अपने सपनों को पूरा करने के लिए प्रत्यूषा 2010 में मुंबई चली गई. जहां सपनों के इस रंगीन शहर ने उन्हें ‘आनंदी’ जैसा नाम दिया. वो आनंदी जिसका किरदार भारतीय टीवी के बेहतरीन किरदारों के लिए याद रखा जाएगा.

एक्ट्रेस बन गई प्रत्यूषा ने इस मौके पूरी तरह से भुनाया और अपने सादगी भरे किरदार के अभिनय से दर्शकों के दिलों में अपना घर बना लिया. कलर्स टीवी के इस शो ने प्रत्यूषा को नाम और शोहरत दी. इसेसे आगे बढ़ते हुए प्रत्यूषा को ‘झलक दिखला जा’ और ‘बिग बॉस’ जैसे रियलिटी शोज भी करने का मौका मिला. मगर ये दोनों शो लंबे समय तक नहीं चले थे. हालांकि, करियर में आई पहली इतनी बड़ी उड़ान के बाद उन्हें बड़े बैनर की सामने कॉम्प्रोमाइज करना ठीक नहीं लग रहा था. इसके बाद ही उनके करियर में डाउन-स्लाइड आने लगा. अहम किरदार निभाने के बजाए ‘हम हैं ना’, ‘ससुराल सिमर का’, ‘कुमकुम भाग्य’ और ‘गुलमोहर ग्रैंड’ में कैमियो की भूमिकाओं के साथ खुद को रखा.

ये वो वक्त था जब प्रत्यूषा का करियर ही नहीं बल्कि इसके साथ साथ उनकी जिन्दगी में सब कुछ सही नहीं चल रहा था. सपनों के शहर की यंग स्टार एक बिजनेस मैन मकरंद मल्होत्रा ​​के साथ रिलेशनशिप में आईं. मगर आपसी अनबन और तल्खियों की वजह से दोनों के बीच उनकी रिलेशनशिप नहीं चल सकी.

जल्द ही एक दोस्त के जन्मदिन की पार्टी में प्रत्यूषा की मुलाकात टीवी एक्टर और प्रोड्यूस राहुल राज सिंह से हुई. ऐसा कहा जाता है कि उनके लिए ये पहली नजर का प्यार था. कुछ वक्त बाद, प्रत्यूषा और राहुल दोनों ने डेटिंग शुरू की. लेकिन जल्द ही उनकी जिंदगी से खुशियां जाती रही. जल्द ही मीडिया में ये खबरें उभरने लगीं कि जन्मदिन की पार्टी पर पूरा बिल न देने की वजह से प्रत्यूषा के खिलाफ धोखाधड़ी का मामला दर्ज किया गया. इतना ही नहीं साथ में यह भी पता चला कि वह एक कार लोन के मामले में एक डिफॉल्टर भी थीं.

इसके आगे जो हुआ उसने सबको चौंका दिया. पिछले साल आज ही के दिन प्रत्यूषा ने दुनिया को अलविदा कह दिया. गोरेगांव में उनके घर पर प्रत्यूषा सीलिंग फैन से लटकी मिलीं. ये राहुल के साथ उनकी रूखे अफेयर का शायद सच था. प्रत्युषा, राहुल के साथ लिव-इन-रिलेशन में थीं.  बताया जाता है आर्थिक परेशानियों वजह से वो एल्कॉहलिक हो गईं थी.

प्रत्यूषा की मौत के बाद उनकी की बेहद करीबी दोस्त काम्या पंजाबी बात करते हुए रो पड़ी थी. उन्होंने कहा, ‘ये ऐसा वक्त है जिसमें मैं कुछ बयान नहीं कर सकती. प्रत्युषा जिंदगी को बेहद आसान समझ कर जीती थी. लेकिन जब कोई एक हमें छोड़ कर जाता है तो उसके साथ कई लोग भी चले जाते हैं.’ इसके अलावा प्रत्यूषा को हमेशा उनके सिंपल किरदार की बेहतरीन अदाकारी उनके खूबसूरती और अपने सपनों को जीने वाली लड़की के रूप में हमेशा याद किया जाएगा.

Share on Google Plus

About Yuva Bhaskar

This is a short description in the author block about the author. You edit it by entering text in the "Biographical Info" field in the user admin panel.

0 comments:

Post a Comment