अब सिर्फ एडल्ट देख पायेंगे BAAHUBALI-2

बाहुबली-2: द कन्क्लूजन को दुनिया भर में जोरदार रिस्पॉन्स मिला है.एक तरफ फिल्म बाहुबली-2 दुनिया भर में कमाई का नया इतिहास रच रही है। बड़ों के साथ इस फिल्म ने बच्चों को भी खूब लुभाया है. वे भी यह जानने को थिएटर्स में पहुंचे कि आखिर कटप्पा ने बाहुबली को क्यों मारा था. वहीं सिंगापुर में प्रदर्शित होने पर बच्चों को इस फिल्म से वंचित रहना होगा। क्योंकि वहां बाहुबली-2 को ए सर्टिफिकेट दिया गया है. फिल्म में दिखाई गई हिंसा को देखते हुए सिंगापुर के सेंसर बोर्ड ने फिल्म को NC16 सर्टिफिकेट दिया है जिसका मतलब है कि 16 साल से कम उम्र के बच्चे इस फिल्म को नहीं देख पाएंगे. कुल मिलाकर अब सिंगापुर में अब सिर्फ एडल्ट देख पायेंगे बाहुबली-2. डीएनए की एक खबर के मुताबिक, भारतीय सेंसर बोर्ड के चेयरपर्सन पहलाज निहलानी ने बताया कि हमारी ओर से फिल्म को U/A सर्ट‍िफिकेट के साथ बिना किसी कट के रिलीज किया गया था. लेकिन सिंगापुर के फिल्म सेंसर बोर्ड के हिसाब से बाहुबली-2 में जरूरत से ज्यादा हिंसक दृश्य दिखाए गए हैं. खासतौर पर वो सीन, जिनमें सैनिकों के गले कटते दिखाए गए हैं. 

पहलाज ने यह भी स्पष्ट किया कि एशिया और यूरोप के कई देशों में भारत की तुलना में ज्यादा फिल्मों को ए-सर्टिफिकेट मिलता है. बाहुबली-2 को भारत में हिंसक न मानने की वजह पहलाज हमारे कल्चर में देखते हैं. उनके मुताबिक, हम बचपन से ही पौराणिक कहानियों में राक्षसों का वध करते समय उनका गला काटने की कहानियां सुनते आते हैं. ऐसे में बच्चे बाहुबली-2 में दिखाए सीन आसानी से समझ सकते हैं. ये उन पर बुरा प्रभाव नहीं डालेंगे. 

इसी के साथ पहलाज निहलानी सेंसर बोर्ड और फिल्म सर्टिफिकेट से जुड़े विवादों पर अपना दर्द भी बयां कर गए. उनका कहना है कि भारत में सेंसरशिप सही चीज के लिए नहीं है बल्क‍ि यह भावनाओं से जुड़ा मुद्दा है. अगर हम बाहुबली-2 में सर काटने का कोई सीन चॉप कर देते तो लोगों की भावनाएं आहत हो जातीं. अगर हम कोई किस सीन काटते हैं तो हमें पिछड़ी सोच वाला कहा जाता है.

राजामौली की फिल्म की प्रशंसा करते हुए उन्होंने कहा कि उन्होंने बहुत ही शानदार फिल्म का निर्माण किया है। ऐसी फिल्म बनाने के लिए काफी धैर्य की आवश्यकता होती है। प्रभास ने बेहतरीन काम किया है। फिल्म की एक्ट्रेस अनुष्का शेट्टी ने उनका पूरा साथ दिया है। फिल्म की कहानी इन दोनों के इर्द-गिर्द घूमती है और दोनों की परफॉर्मेंस फिल्म की हाईलाइट है।
Share on Google Plus

About Yuva Bhaskar

This is a short description in the author block about the author. You edit it by entering text in the "Biographical Info" field in the user admin panel.

0 comments:

Post a Comment