होटल के बाहर क्यों गुजारनी पड़ी रात इन गर्ल्स की टीम को

नेपाल में आए भयानक भूकंप के बीच भारतीय अंडर-14 गर्ल्स फुटबॉल टीम सुरक्षित भारत लौट आई है। सभी लड़कियां काठमांडू से दिल्ली पहुंचीं। नेपाल के दशरथ स्टेडियम में भारतीय टीम को 25 अप्रैल को ईरान से मैच खेलना था, लेकिन उसी दिन आए भूकंप के बाद मैच रद्द हो गया। इस दौरान ऑल इंडिया फुटबॉल फेडरेशन लगातार नेपाल स्थित भारतीय दूतावास से संपर्क में थी।

बाहर गुजारी पूरी रात
जिस दिन भूकंप आया तब भारतीय टीम काठमांडू के ही एक होटल में ठहरी हुई थी। त्रासदी वाली रात खिलाड़ियों ने होटल रूम के बाहर गुजारी। चूंकि काठमांडू का एयरपोर्ट बंद होने वाला था इसलिए भारतीय दल ने इंडियन आर्म्ड फोर्स से मदद ली। फोर्स ने ही इन लड़कियों को मिलिट्री के प्लेन से सुरक्षित भारत पहुंचाया। भारतीय दल में 18 खिलाड़ी और 5 अधिकारियों सहित कुल 23 लोग थे।

बहुत डरावना अनुभव था
भारत लौटने के बाद मीडिया से चर्चा करते हुए टीम की हेड कोच रॉकी मेमॉल ने कहा, "हम भागवान को शुक्रिया कहते हैं। उन्होंने ही हमें यहां सुरक्षित पहुंचाया। नेपाल में आया भूकंप बहुत डरावना अनुभव रहा। हम तब वॉर्म-अप कर रहे थे जब ये आपदा आई। हमनें खुद इमारतों को गिरते देखा। यहां तक कि स्टेडियम का गेट भी हमारी आंखों के सामने ही गिरा। यह भीषण दृश्य था, लेकिन लड़कियों ने इस मुसीबत का बहादुरी से सामना किया। लड़कियां काफी बहादुर हैं। मैं उनके लिए चिंतित थी और चाहती थी कि हम सब सुरक्षित अपने देश लौट आएं। मैं उन सभी को शुक्रिया कहती हूं जिन्होंने हमारी मदद की और हमारे लिए दुआ की।"


Tags

buttons=(Accept !) days=(20)

Our website uses cookies to enhance your experience. Learn More
Accept !
To Top