हाथ की रेखाओं से जानिए शादी होगी या नहीं, होगी भी तो...

यह जरुरी नहीं कि धरती पर जो पैदा हुआ है उसका विवाह होगा ही क्योंकि जबतक आपकी किस्मत में किसी का साथ नहीं लिखा हो यानी वैवाहिक जीवन का सुख नहीं हो तब तक लाख चाहने पर भी विवाह नहीं हो पाता है।

यही कारण है कि बहुत से धनवान और सफल व्यक्ति भी अविवाहित रह जाते हैं। और कई ऐसे व्यक्ति भी आपको मिल जाएंगे जो जीवन में बहुत अधिक सफल नहीं होते हुए भी सफल वैवाहिक जीवन जी रहे होते हैं।

कुछ लोग ऐसे भी होते हैं जिनके मन में विवाह की इच्छा ही नहीं रहती है और परिवार वालों की लाख कोशिशों के बावजूद भी शादी नहीं करते हैं।

अगर शादी हो भी जाए तो इनका वैवाहिक जीवन सुखद नहीं रहता और वैवाहिक जीवन के आनंद से वंचित रह जाते हैं। आइये देखें ऐसी विवाह रेखाओं को जिनसे होता है वैवाहिक जीवन का सुख बर्बाद।

दांपत्य जीवन में आपसी तालमेल और प्रेमी की कमी
विवाह रेखा हथेली में सबसे छोटी उंगली के पास होती है। जिनकी हथेली में यह रेखा हृदय रेखा की ओर बढ़ा हुआ होता है और आगे जाकर इस रेखा से दो तीन रेखाएं निकल रही होती है तो यह वैवाहिक जीवन के लिए सुखद नहीं होता है।

जिनकी हथेली में ऐसी रेखाएं होती है उन्हें वैवाहिक जीवन का सुख नहीं मिल पाता है क्योंकि ऐसे व्यक्ति के दांपत्य जीवन में आपसी तालमेल और प्रेमी की कमी रहती है।

तब पति पत्नी का साथ जीवन भर नहीं रहता
समुद्रशास्त्र के अनुसार जिनकी हथेली में विवाह रेखा हृदय रेखा की ओर बहुत अधिक झुकी होती है उनका दांपत्य जीवन बहुत ही कष्टकारी होता है।

माना जाता है कि ऐसी विवाह रेखा लड़की की हथेली में होने पर पत्नी को पति का वियोग सहना पड़ता है। अगर लड़के की हथेली में ऐसी रेखा हो तो उन्हें जीवन भर पत्नी का साथ नहीं मिल पाता है।

तब आजीवन कुंवारा रहना पड़ता है
विवाह रेखा अगर बढ़कर छोटी उंगली के तीसरे या दूसरे पोर तक पहुंच जाती है तो यह वैवाहिक जीवन के लिए बड़ा ही अशुभ माना जाता है।

इस तरह की विवाह रेखा बहुत कम लोगों की हथेली में पायी जाती है। लेकिन जिनकी हथेली में ऐसी विवाह रेखा होती है उन्हें आजीवन कुंवारा रहना पड़ता है।

ऐसे व्यक्ति में विवाह की इच्छा नहीं रहती है। अगर विवाह की इच्छा करें भी तो किसी न किसी कारण से विवाह का संयोग नहीं बन पाता है।

तब जीवनसाथी के जीवन पर संकट आता है
हस्तरेखा विज्ञान के अनुसार जिनकी हथेली में विवाह रेखा बीच में टूटी होती है उनका वैवाहिक जीवन लंबे समय तक नहीं चल पाता है।

ऐसी विवाह रेखा होने पर तलाक या जीवनसाथी की मृत्यु तक की संभावना रहती है। विवाह रेखा पर क्रास का चिन्ह होना भी कष्टकारी होता है।

ऐसी स्थिति में वैवाहिक जीवन का अंत बहुत ही दुखदायी होता है। अगर विवाह रेखा के साथ एक अन्य रेखा चल रही हो तब जीवनसाथी के अलावा भी व्यक्ति का अन्य किसी से संबंध होता है।

buttons=(Accept !) days=(20)

Our website uses cookies to enhance your experience. Learn More
Accept !
To Top