IPL 8 : युवराज नहीं दिखा पाये अपना कमाल

 रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु ने फिरोजशाह कोटला मैदान पर आईपीएल-8 के 26वें मैच में दिल्ली डेयरडेविल्स को 10 विकेट से हरा दिया। इस आईपीएल में यह पहला मौका है जब किसी टीम 10 विकेट से जीत दर्ज की हो। रॉयल चैलेंजर्स को जीत के लिए 96 रनों का आसान लक्ष्य मिला था, जिसे टीम ने आसानी से बिना कोई विकेट गंवाए 10.3 ओवरों में हासिल किया। दिल्ली के आठ बैट्समैन दहाई का आंकड़ा भी नहीं छू सके। दिल्ली के तमाम स्टार प्लेयर इस मैच में फेल रहे। इनमें युवराज सिंह, श्रेयस अय्यर, मयंक अग्रवाल, जेपी डुमिनी, एंजेलो मैथ्यूज और अमित मिश्रा शामिल हैं।

गेल और कोहली का तूफान
क्रिस गेल (62 नाबाद) और कप्तान विराट कोहली (35 नाबाद) की शानदार पारी का डेयरडेविल्स के गेंदबाजों के पास कोई जवाब नहीं था। गेल ने 40 गेंदों की पारी में छह चौके और चार छक्के लगाए। कोहली ने भी 23 गेंदों में छह चौके लगाए। दिल्ली ने अपने घरेलू मैदान 'फिरोज शाह कोटला' पर अपने पिछले मुकाबले में मुंबई इंडियन्स को 37 रन से पराजित कर कोटला में लगातार नौ मैच हारने का सिलसिला तोड़ा था और यह सिलसिला तोड़ने के बाद ही अगले मैच में दिल्ली को बेहद शर्मनाक हार का सामना करना पड़ा। किन छह खिलाड़ियों के कारण दिल्ली डेयरडेविल्स को हार का सामना करना पड़ा ।

1. दिनेश कार्तिक : दो कैच और एक स्टम्प
दिल्ली को उसी के मैदान पर हराने का श्रेय सबसे अधिक विकेटकीपर दिनेश कार्तिक को जाता है। उन्होंने विकेट के पीछे जबरदस्त चपलता दिखाई। उन्होंने दिल्ली डेयरडेविल्स के कप्तान जेपी डुमिनी का कैच डेविड वेस की बॉल पर हवा में छलांग लगाकर लपका। इसके बाद वरुण आरोन की बॉल पर 16 करोड़ी युवराज सिंह को लपककर बेंगलुरु को शानदार सफलता दिलाई। युवराज सिंह 
2 रन बनाकर आउट हुए। बड़े स्कोर की ओर बढ़ रहे ओपनर मयंक एक बॉल को बाहर निकलकर खेलने गए तो उन्हें स्टम्प आउट कर दिया। इन विकेटों के कारण ही दिल्ली 100 रन के भीतर आउट हो सकी।

2. वरुण आरोन : युवी और मैथ्यूज का विकेट
भारतीय टीम में जगह बनाने के लिए संघर्षरत वरुण आरोन लय में नजर आए। उन्होंने दिल्ली को संभालने का जिम्मा लेकर उतरे युवराज सिंह को सिर्फ दो रनों के निजी स्कोर पर दिनेश कार्तिक के हाथों कैच कराया। इसी ओवर में उन्होंने एंजिलो मैथ्यूज को भी आउट किया। मैथ्यूज बिना खाता खोले आउट हुए। ये दोनों ही विकेट दिल्ली की दृष्टि से महत्वपूर्ण थे। इसमें से कोई एक टिक जाता तो बेंगलुरु की कम से कम आसान जीत तो नहीं ही होती। 24 रन देकर दो विकेट चटकाने वाले आरोन को मैन ऑफ द मैच चुना गया।

3. मिचेल स्टार्क : 20 रन देकर 3 विकेट
वर्ल्ड कप में ऑस्ट्रेलिया की जीत में प्रमुख भूमिका निभाने वाले मिचेल स्टार्क मैच के बेस्ट बॉलर रहे। उन्होंने 4 ओवर में 20 रन देकर 3 विकेट चटकाए। इसमें मुंबई इंडियन्स के खिलाफ तूफानी हाफ सेन्चुरी लगाने वाले श्रेयस अय्यर, अमित मिश्रा और नदीम का विकेट शामिल है। श्रेयस बिना खाता खोले आउट हुए। मिश्रा और नदीम दोनों ने दो-दो रन बनाए।

4. गेल की जबरदस्त बैटिंग
एक तो छोटा टारगेट और दूसरा गेल फॉर्म में। फिर कैसे जीतता दिल्ली। कुछ मैचों में रन नहीं बना पाने वाले क्रिस गेल ने 40 बॉल में 62 रन ठोककर एकतरफा जीत में प्रमुख भूमिका निभाई। उन्होंने विराट कोहली के साथ निर्णायक 99 रन जोड़े। गेल ने अपनी पारी में छह चौके और चार छक्के लगाए।

5  युवराज सिंह की फ्लॉप बैटिंग जारी,
युवराज सिंह एक बार फिर फ्लॉप रहे। वे सिर्फ दो रन बनाकर वरुण आरोन का शिकार बने। इस मैच में दिल्ली को उनकी सबसे अधिक जरूरत थी। पिछले सात मैचों में वे सिर्फ एक हाफ सेन्चुरी लगा सके हैं।

6. श्रेयस अय्यर : 0 पर हुए आउट
पिछले मैच में मुंबई के खिलाफ 56 बॉल में 83 रन बनाकर दिल्ली को जीत दिलाने वाले श्रेयस अय्यर भी फ्लॉप रहे। स्टार्क की बॉल पर वह खाता खोलने से पहले पगबाधा आउट हुए।



Tags

buttons=(Accept !) days=(20)

Our website uses cookies to enhance your experience. Learn More
Accept !
To Top