क्या स्मार्टफोन को ऑफ करना जरुरी है ?

क्‍या आप अपना स्‍मार्टफोन स्विच ऑफ करते हैं। कुछ लोग करते होंगे, लेकिन अधिकांश लोग ऐसा करने के बारे में सोच भी नहीं सकते हैं। जिन लोगों को दिन भर मैसेज, इंटरनेट, फेसबुक, वॉट्सऐप, वीचैट, हैंगआउट और ट्विटर यूज करना अच्‍छा लगता है, वो अपना फोन कम ही स्विच ऑफ करते हैं।

लेकिन क्‍या कम्‍प्‍यूटर की तरह, फोन को स्विच ऑफ करना हार्डवेयर की दृष्टि से सही है। आईफिक्सिट के संस्‍थापक काइल वेंस की मानें तो स्‍मार्टफोन को स्विच ऑफ नहीं करना चाहिए।

वेंस का कहना है कि कम्‍प्‍यूटर को शटडाउन करना जरूरी है, ताकि उसके हार्डवेयर को रेस्‍ट मिले, जो कम्‍पोनेंट गर्म हो जाते हैं, वो ठंडे और नॉर्मल हो सकें लेकिन स्‍मार्टफोन के मामले में ऐसा नहीं है। जहां, कम्‍प्‍यूटर को शटडाउन करने से बिजली भी बचती है, वहीं स्‍मार्टफोन को बंद करने से बैटरी कम खपत होगी, इसकी कोई ग्‍यारंटी नहीं है।

वेंस का कहना है कि एक सामान्‍य स्‍मार्टफोन की बैटरी लाइफ साइकल 300 से 500 बार फुल चार्ज करने तक ही होती है। इसके बाद बैटरी की लाइफ धीरे-धीरे कम होने लगती है। लगभग 400 बार फुल चार्ज होने के बाद बैटरी की क्षमता 80 प्रतिशत ही रह जाती है। हालांकि इसका असर जल्‍द दिखाई नहीं देता है। यदि कोई व्‍यक्ति रात में अपने स्‍मार्टफोन को यह सोचकर स्विच ऑफ करता है कि इससे बैटरी बचेगी तो वह गलत है।

इससे बचेगी बैटरी
यदि आप फोन पर कम गाने सुनेंगे, वीडियो कम देखेंगे, जीपीएस का उपयोग कम करेंगे और कार के डैशबोर्ड पर फोन को नहीं रखेंगे, तो बैटरी लाइफ ज्‍यादा रहेगी और इसे कम बार चार्ज करना होगा।

क्‍या फोन को रिस्‍टार्ट करना चाहिए?
कई बार कम्‍प्‍यूटर हैंग होने पर या स्‍पीड धीमी होने पर उसे रिस्‍टार्ट करने की सलाह दी जाती है लेकिन मौजूदा स्‍मार्टफोन्‍स के साथ ऐसा करने की जरूरत नही है।

यदि आपके फोन ऐपल ऑपरेटिंग सिस्‍टम, विंडोज 8.1 या फिर एंड्रॉयड है तो आपको रिस्‍टार्ट करने की जरूरत नहीं है। यह सभी ऑपरेटिंग सिस्‍टम सॉफ्टवेयर के स्‍तर पर ही प्रोसेस को खत्‍म करके मेमोरी को क्‍लीनअप कर सकते हैं। जिससे परफॉर्मेंस तेज बनी रहे।

 switch off your smartphones , why should u switch off  your smartphone 

buttons=(Accept !) days=(20)

Our website uses cookies to enhance your experience. Learn More
Accept !
To Top