रिलेशनशिप की नोंक-झोंक को बड़ी लड़ाई में तब्दील होने से ऐसे रोके

रिलेशनशिप में लड़ाई-झगड़े, बहस, नोंक-झोंक, तकरार-प्यार तो बहुत ही आम बात होती है जो उसकी मिठास को कम नहीं करती बल्कि उसे बढ़ाती ही है लेकिन समस्या तब पैदा होती है जब ये नोंक-झोंक किसी बड़ी लड़ाई में बदल जाएं और जिसका हल रिलेशनशिप का अंत ही हो। इस तरह की समस्याएं सिर्फ मानसिक तौर पर परेशान करने के अलावा और कुछ नहीं करतीं। बहुत सारी वजहें रिलेशनशिप टूटने के लिए जिम्मेदार हो सकती हैं, जरूरी है वक्त रहने इन कारणों को जानकर उन्हें सुलझा लेना। रिश्ते में जब ऐसे उतार-चढ़ाव आते हैं तो कैसे उनसे अपने रिश्ते को बचाया जा सकता है इनके बारे में जानना बेहद जरूरी है।

1. साथ रखने की वजहें याद करें
उन बातों को खोजें जो कभी आप दोनों को एक-दूसरे में बहुत ही अच्छी लगती थीं। उन बातों, उन पलों को याद करें जिनकी पीछे आप दिवाने हुआ करते थे। एक लंबा सफर उन्हीं आदतों और अच्छाइयों के साथ तय किया था, इन्हें कतई न भूलें। वक्त के साथ बहुत-सी आदतें बदलती हैं। हो सकता है आज किन्हीं कारणों से एक-दूसरे को इतना वक्त नहीं दे पा रहे जितना कभी देते थे, लेकिन इसका मतलब रिश्ते का अंत नहीं है। इन्हें ही याद करके, आपसी समझदारी से रिलेशनशिप को फिर से एक मौका दें।
Other Things to do: बात करें, एक साथ वक्त बिताएं, एक-दूसरे को माफ कर दें, बातों को क्लीयर करें, अहंकार दूर करें, अपनी सीमाएं तय करें।

2. बात करें
आपस की प्रॉब्लम्स को खत्म करने का इससे बेहतर तरीका शायद ही कोई दूसरा हो। रिलेशनशिप को निभाने में क्या परेशानियां आ रही हैं, किन बातों को लेकर झगड़ें हो रहे हैं इन सभी बातों के पीछे की वजहों को जानने की कोशिश करें। किन तरीकों से उन्हें सुलझाया जा सकता है इसके बारे में भी सोचें और मिलकर बातचीत करें। साथ ही एक-दूसरे की बातों को भी सुनें। कई बार बेवजह की गलतफहमियां भी रिश्ते में दरार बन जाती हैं। जिन्हें बातचीत के जरिए बड़ी ही आसानी से दूर किया जा सकता है।

3. एक साथ वक्त बिताएं
बहुत सालों से अपने फेवरेट रेस्टोरेंट्स नहीं गए हैं, साथ वक्त बिताए लंबा अरसा हो गया है जिससे रिलेशनशिप में वो स्पॉर्क नहीं बचा है जो कभी शुरूआत में हुआ करता था। तो, इसके लिए बहुत ही आसान सा तरीका है जहां आप दोनों पहली बार मिले थे वहां जाएं। उन पलों को याद करें जो आपको एक्साइट करती थीं। घंटों साथ में बैठे रहना और एक-दूसरे को देखना, बातें करना फिर से शुरू करें। साथ घूमने का प्लान बनाएं, छुट्टियां साथ में बिताएं।

4. एक-दूसरे को माफ कर दें
पुरानी गलतियों, बातों को याद करके लड़ने-झगड़ने से बेहतर उन्हें भूलकर या उन्हें माफ कर रिशते को दोबारा से एक और मौका दें। यकीनन एक माफी रिलेशनशिप को बचाने का कारगर फॉर्मूला साबित होगी, क्योंकि गलतियों को नजरअंदाज करना बिल्कुल सही नहीं, लेकिन उन्हें माफ कर देना बहुत ही बड़ी वजह बन सकती है रिलेशनशिप को दोबारा शुरू करने में।

5. बातों को क्लीयर करें
बहुत-सी ऐसी बातें होती हैं जो रिलेशनशिप को बचाने के चक्कर में झूठ बोली जाती हैं, लेकिन जब इसका पता पार्टनर को पता चलता है जो ठीक इसके विपरीत होता है। गलतफहमियां, झगड़े, विश्वास की कमी जैसी समस्याएं घर कर लेती हैं। इसके लिए जरूरी हैं कि किसी भी प्रकार की कोई गलती, बातों को एक बार ही बैठकर आपस में क्लीयर कर लें जिससे बाद में पता लगने पर उसे स्वीकार करने में आसानी होती है।

6. अहंकार दूर करें
किसी भी रिलेशनशिप के अंत होने का सबसे बड़ा कारण अहंकार का होना है। पुरुष और महिलाओं दोनों को ही अपनी ईगो बहुत ही प्यारी होती है। जो रिलेशनशिप के आड़े आती है। कोई छोटी भूल-चूक होने पर उसे ना मानना, उसके लिए माफी न मांगना ही रिलेशनशिप को खत्म करने की शुरुआत करता है। इसलिए बिना किसी शर्म के ऐसी किसी भी गलती को कबूल करें और देखें कितनी ही आसानी से समस्या जल्द दूर हो जाती है।

7. अपनी सीमाएं तय करें
एक-दूसरे पर पाबंदियां लगाने के बजाय, एक-दूसरे को और उनके विचारों को आजादी दें। रिलेशनशिप को जितना बांधकर रखा जाएगा उतनी ही समस्याएं खड़ी होंगी। जो गाइडलाइन्स पार्टनर के लिए तय किए हैं, खुद भी उन्हें फॉलो करें। ज्यादातर लोग इस बात से वाकिफ होंगे कि आदमी-पुरुष दोनों दो पहिए के समान है जिनका एक जैसा चलना बहुत ही ज्यादा जरूरी है। तो इस बात को समझें और बहस, लड़ाई-झगड़ा करने से बेहतर एक-दूसरे पर विश्वास करके रिलेशनशिप को एक नई दिशा दें।

relationship tips , stop arguing in relationship  

buttons=(Accept !) days=(20)

Our website uses cookies to enhance your experience. Learn More
Accept !
To Top