सावधान! इन प्रॉबलम्स में भी होता है हेयर फॉल- Beauty Tips in Hindi

महिलाओं के शरीर में जीवन के हर चरण में विशेष परिवर्तन होते रहते हैं। यही परिवर्तन उनके बालों के झड़ने का कारण होते हैं। लेकिन इस समस्‍या को सही करने के लिए, हमें सबसे पहले यह जानना होगा कि किन कारणों से महिलाओं के बाल ज्‍यादा झड़ते हैं। ताकि उनका सही तरीके से उपचार किया जा सकें। बोल्‍डस्‍काई के इस आर्टिकल में हम महिलाओं में बाल झड़ने के 10 कारणों के बारे में बता रहे हैं। इन समस्‍याओं के बाद हम निदान ढूंढकर उस हिसाब से बालों की देखभाल कर सकते हैं। आइए जानते हैं: 

1. बालों की देखभाल न करना: कई लड़कियां या महिलाएं, बालों की सही तरीके से देखभाल नहीं करती हैं। वे उन पर किसी भी तरह के रंग या डाई को लगा लेती हैं या फैशन के चक्‍कर में गर्म रोलर से कर्ल कर लेती हैं। कसकर चोटी बनाने या गलत तरीके से कंघी करने से भी बाल बहुत ज्‍यादा टूटते हैं। 

2. पीसीओएस: पुरूष के साथ सम्‍बंध बनाने के बाद ओवरी में स्‍पर्म के जाने के बाद शरीर में अचानक से काफी परिवर्तन आ जाते हैं जिससे कि बालों पर नकारात्‍मक असर पड़ने लगता है। ऐसा हारमोन्‍स में असंतुलन आने के कारण होता है।

3. एनीमिया: शरीर में आयरन की कमी से खून में ऑक्‍सीजन का संचार कम होता है जिससे खून की कमी हो जाती है और बालों को पर्याप्‍त मात्रा में पोषक तत्‍व नहीं मिलता है। ज्‍यादा मात्रा में ब्‍लीडिंग होने पर (पीरियड के दौरान) भी बालों पर बुरा असर पड़ता है।

4. मेनोपॉज: महिला के शरीर में मेनोपॉज के दौरान काफी परिवर्तन आते हैं। इस दौरान उसके बालों का झड़ना, तेजी से बढ़ जाता है। ऐसे में बालों को स्‍पेशल ट्रीटमेंट देने की जरूरत होती है।

5. प्रसव: कई महिलाओं को प्रसव के बाद बालों के झड़ने की समस्‍या होती है। ऐसा इसलिए होता है क्‍योंकि गर्भावस्‍था के दौरान महिला के शरीर में एस्‍ट्रोजन की मात्रा बहुत ज्‍यादा बढ़ जाती है। डिलीवरी के बाद शरीर सामान्‍य हो जाता है और इस परिवर्तन को झेल नहीं पाते हैं।

6. प्रोटीन की कमी: हमारे बाल, कैराटिन नामक प्रोटीन के बने होते हैं। अगर शरीर में किसी भी दौरान इस प्रोटीन की कमी हो जाती है तो बालों का झड़ना शुरू हो जाता है।

7. दवाईयां: जो महिलाएं गर्भनिरोधक गोलियों का सेवन करती हैं उनके बाल दवाईयों के साइड इफेक्‍ट के कारण झड़ जाते हैं। कीमोथेरेपी के दौरान भी बाल झड़ जाते हैं लेकिन ऐसा सिर्फ कैंसर के इलाज के दौरान होता है।

8. अत्‍यधिक वजन घटाना: अगर कोई महिला बहुत ज्‍यादा वजन घटाने का प्रयास करती है या कम कर लिया होता है तो उनके बाल झड़ना भी स्‍वाभाविक है।

9. थॉयराइड, ऑटोइम्‍यून बीमारी: थॉयराइड या कोई अन्‍य बीमारी होने पर शरीर की सामान्‍य प्रक्रिया में असंतुलन आ जाता है जिससे बाल झड़ने लगते हैं। कई बार ज्‍यादा बाल झड़ना भी संकेत देते हैं कि आपके शरीर में कुछ न कुछ असामान्‍य है।

10. कोई भी गंभीर मेडीकल स्थिति: डायबटीज, सोराइसिस या अन्‍य किसी प्रकार की बीमारी होने पर शरीर की प्रक्रिया गड़बड़ कर जाती है और बालों का गिरना शुरू हो जाता है। सोराईसिस में ऐसा होना सामान्‍य है क्‍योंकि यह एक प्रकार का त्‍वचा सम्‍बंधी रोग होता है। 

buttons=(Accept !) days=(20)

Our website uses cookies to enhance your experience. Learn More
Accept !
To Top