अय्याशियों के लिए बन गई जालसाज की लिव​इन

सुनील मेहरोत्रा/मुंबई। फिल्मों में सितारों और किरदारों की जो लाइफ स्टाइल दिखाई जाती है, अक्सर लोगों को विश्वास नहीं होता, पर 10 करोड़ की ठगी के मामले में पिछले पखवाड़े जब ऐक्ट्रेस लीना पॉल को उसके लिव इन पार्टनर शेखर चंद्रशेखर के साथ गिरफ्तार किया गया , तो पुलिस वाले उनकी लाइफ स्टाइल देखकर हैरान हो गए।

एक पुलिस अधिकारी ने शनिवार को एनबीटी को बताया कि हमने गिरफ्तार दोनों आरोपियों के पास से कुल 9 गाड़ियां जब्त कीं। इनमें से एक वह MASSENETTI गाड़ी भी है, जिसके बारे में चंद्रेशखर का दावा है कि यह उसके अलावा भारत में सिर्फ तीन और लोगों के पास है। पुलिस चंद्रशेखर के इस दावे को वेरिफाई कर रही है। इस गाड़ी की मार्केट में 8 करोड़ रुपये कीमत है, पर चंद्रशेखर का कहना है कि उसने यह एक एजेंट के मार्फत 85 लाख में किसी से सेकंड हैंड खरीदी।

चंद्रशेखर और लीना जब इस या इस तरह की और महंगी गाड़ियों में बैठकर सफर के लिए निकलते थे, तो उनकी गाड़ी के आगे और पीछे एक जिप्सी व टाटा सफारी गाड़ी भी रहती थी। इन दोनों गाड़ियों में तीन-तीन सिक्युरिटी गार्ड बैठे रहते थे, जबकि दो सिक्युरिटी गार्ड चंद्रशेखर व लीना की खुद की गाड़ी में बैठे रहते थे। जिप्सी में पुलिस सायरन लगा हुआ था, जबकि टाटा सफारी में VIP लिखा हुआ था।

यदि किसी नाकाबंदी या टोल नाके पर ऐक्ट्रेस व उसके लिव इन पार्टनर की गाड़ियां रोकी जातीं, तो सिक्युरिटी गार्ड गाड़ी के अंदर से बाहर हाथ निकाल देते थे। उनके हाथ में वॉकी-टॉकी भी होता था। इन्हें देखकर नाकाबंदी में लगे पुलिस वाले इन सिक्युरिटी गार्ड्स को एसपीजी के आदमी समझते थे और गाड़ी में बैठे चंद्रेशेखर को कोई बड़ा राजनेता और लीना को उसकी पत्नी समझकर बिना रोके जाने देते थे। वैसे भी वॉकी टॉकी सिर्फ पुलिस वाले या सिक्युरिटी एजेंसी से जुड़े लोग ही इस्तेमाल करते हैं। प्रधानमंत्री, राष्ट्रपति की सुरक्षा एसपीजी करती है। एसपीजी वाले भी टाटा सफारी ही इस्तेमाल करते हैं।

ऐक्ट्रेस लीना की तरफ से हर सिक्युरिटी गार्ड को 12 घंटे की ड्यूटी के लिए 15 हजार रुपये महीना दिया जाता था। यदि ओवरटाइम हुआ, तो प्रति घंटा 50 रुपये सिक्युरिटी गार्ड को मिलता था। इसके अलावा खाने का रोज का 200 रुपये अलग। चंद्रशेखर ने अपने अंधेरी स्थित ऑफिस में अपनी कुर्सी के पीछे एक बनावटी शेर भी रखा हुआ था। इस शेर को उसने 20 लाख रुपये में खरीदा था। इस ऑफिस का किराया प्रति माह 75 हजार रुपये था।

ऐक्ट्रेस ने गोरेगांव में एक घर भी लिया हुआ था। इसका किराया भी 75 हजार रुपये प्रतिमाह था। पुलिस का कहना है कि ऐक्ट्रेस व उसका लिव इन पार्टनर किराए से लेकर गाड़ियों का पेमेंट सब कुछ कैश में करते थे। जिन 1000 निवेशकों से उन्होंने रुपया लिया, वह भी कैश में ही लिया था। दोनों ने अपने घर व ऑफिस में इतना सब माहौल इसलिए बना रखा था , ताकि निवेशकों को वो दोनों ज्यादा इंप्रेश कर सकें। ऑफिस में दोनों ने साउथ के कुछ बड़े नेताओं के साथ खिंचवाए फोटो भी लगा रखे थे, ताकि कोई उन पर और भी शक न कर सके।

लीना पॉल ने साउथ की फिल्मों के अलावा जॉन अब्राहम के साथ मद्रास कैफे नाम की बॉलिवुड फिल्म में भी काम किया है। उसे व चंद्रशेखर को तीन साल पहले दिल्ली में 19 करोड़ की ठगी के मामले में गिरफ्तार किया गया था। वहां से ये दोनों जब बेल पर छूटे तो मुंबई आ गए और फिर फिल्म गीतकार हसरत जयपुरी के बेटे व पोते व दो अन्य लोगों के साथ मिलकर मुंबई में ठगी करने लगे।


buttons=(Accept !) days=(20)

Our website uses cookies to enhance your experience. Learn More
Accept !
To Top