हां, पुलिस चौकी में ही हुआ था मॉडल का रेप, इंस्पेक्टर ने दांत से काटा था

मुंबई। अप्रैल महीने में 29 साल की एक मॉडल के साथ रेप के मामले में तीन पुलिसवालों सहित पांच अन्य को आरोपी बनाया गया है। चार्जशीट में इस बात का खुलासा हुआ है कि पुलिस इंस्पेक्टर ने मॉडल के साथ पुलिस चौकी में ही रेप किया था। मॉडल ने दांत से काटने की शिकायत भी की थी जिसकी फोरेंसिक रिपोर्ट में पुष्टि हुई है। मॉडल ने इसकी शिकायत पुलिस कमिश्नर से की थी, जिसके बाद इस मामले में 105 पुलिसकर्मियों ने गवाही दी। इस आधार पर आरोपियों के खिलाफ 1168 पेज की चार्जशीट पेश की गई है।

आरोपी पुलिसकर्मी
इस मामले में असिस्टेंट इंसपेक्टर सुनील खापते, सुरेश सूर्यवंशी और कॉन्स्टेबल योगेश पोंडे आरोपी है। इस मामले में एक महिला को भी आरोपी बनाया गया है।

क्या है मामला
इसी साल अप्रैल में सकीना पुलिस चौकी के तीन पुलिसकर्मियों ने मॉडल से रेप किया गया था। आरोपी इंस्पेक्टर ने बर्बरता की हदें पार कर दी थी और मॉडल की ब्रेस्ट पर दांत से काटा था। महिला ने इसकी शिकायत पुलिस कमिश्नर राकेश मारिया से मिलकर की थी। इस मामले में अभी भी एक आरोपी फरार है।

फोरेंसिक रिपोर्ट में साबित हुआ है दांत काटने का आरोप
पुलिस ने चार्जशीट के साथ फोरेंसिक रिपोर्ट की कॉपी भी सबमिट की है। इसके मुताबिक, पीड़िता की ब्रेस्ट के लेफ्ट साइड में दांत से काटा गया था। दांत से काटने के जो निशान मिले हैं, वह खापते की डेंटल प्रोफाइल से मैच करते हैं। इस केस के एक जांच अधिकारी ने बताया, ''पीड़िता के बयान और कोरोबोरेटिव साइंटिफिक एविडेंस ने इस बात का खुलासा किया है कि खापते ने ही मॉडल के साथ पुलिस चौकी के भीतर रेप किया था।''

मॉडल का बयान
पीड़ित मॉडल ने अपने बयान में बताया था, ''दो अप्रैल को पुलिसवालों ने मुझे हिरासत में लिया और सकीना पुलिस स्टेशन ले गए। वहां से फिर मुझे संघर्ष नगर पुलिस चौकी ले जाया गया, जहां मेरे साथ रेप हुआ। इसके बाद में मुझे अगले दिन दोपहर में छोड़ दिया गया।'' पीड़िता ने यह भी आरोप लगाया कि पुलिसवालों ने मुझसे और मेरे दोस्त से 10 लाख रुपए की भी मांग की थी।

पुलिस कमिश्नर को दिए थे फोटो
आरोपी पुलिसवालों की चुंगल से मुक्त होने के तुरंत बाद पीड़िता ने ब्रेस्ट पर दांत काटने के निशान के फोटोज लिए थे और कमिश्नर से शिकायत के वक्त फोटो भी अटैच की थी। इसके बाद क्राइम ब्रांच ने फोटो और मोबाइल (जिससे फोटो खींची गई थी) को फोरेंसिक जांच के लिए भेज दिया था, जहां खापते की डेंटल प्रोफाइल से उनके मैच होने की पुष्टि हुई।

पुलिस को भरोसा, नहीं मुकरेंगे गवाह
जांच अधिकारी के मुताबिक, इस मामले में 105 पुलिसकर्मियों को गवाह बनाया गया और 21 अन्य लोगों ने भी गवाही दी है। पुलिस का कहना है, ''इस केस के ज्यादातर गवाह पुलिस अफसर हैं। ऐसे में, अदालत में उनके मुकरने की संभावना कम है। इसलिए यह केस हमारे पक्ष में है।''

Tags

buttons=(Accept !) days=(20)

Our website uses cookies to enhance your experience. Learn More
Accept !
To Top