लवजिहाद: हिन्दू पति को गुलामों की तरह मारती थी मुसलमान पत्नी

नईदिल्ली। लवजिहाद की यह एक क्रूरतम कहानी है। एक मुसलमान लडकी ने अपने परिवार के साथ मिलकर योजनाबद्ध तरीके से एक हिन्दू लड़के को अपने प्यार के जाल में फंसाया। लवमैरिज की और फिर शुरू हुई हिन्दू पति की दर्दभरी कहानी। लड़की ने ससुराल में झगड़ा किया, लड़के को घरजमाई बनने मजबूर किया, यहां उससे नौकरों की तरह काम कराया गया, मारा पीटा गया। जबरन धर्म परिवर्तन कराया गया। उसका हिन्दू धर्म भ्रष्ट किया गया। गुलामों के जैसा व्यवहार किया और साथ ही धमकी दी कि यदि उसने मुंह खोला या कोई शिकायत की तो उसके खिलाफ फर्जी मुकदमे दर्ज करा दिए जाएंगे। उसे जेहादियों के हाथों सौंप दिया जाएगा। 

दिल्ली के बदरपुर थाने में एक शौहर ने बीवी और उसके मायके वालों के जुल्म-ओ-सितम से बचाने की पुलिस से गुहार लगाई है । आरोप है कि एक विशेष समुदाय से ताल्लुक रखने वाली लड़की से लव-मैरिज की। कुछ दिन बाद बीवी ने धर्म परिवर्तन की शर्त रख दी। बीवी के प्यार की खातिर शौहर राजी हो गया। सभी रीति-रिवाजों से धर्म परिवर्तन करवाया। 40 दिन के खास आयोजन पर भी गया। बीवी ने मायके में घर दामाद बनकर रहने की जिद की। वह इसके लिए भी तैयार हो गया। ससुराल वालों ने 10 हजार की तनख्वाह पर उसे ड्राइवर रख लिया मगर तीन महीने तक तनख्वाह नहीं दी। बीवी और मायके वालों से खर्चा मांगा तो उन्होंने मिलकर उसे बुरी तरह पीट दिया। लोकल पुलिस ने इस शख्स की कंप्लेंट पर मुकदमा दर्ज कर लिया है।

पुलिस ने बताया कि इंसाफ की गुहार लगाने वाला लड़का अनुज (बदला हुआ नाम) ने चार साल पहले लड़की शमीना (बदला हुआ नाम) से लव मैरिज की। दोनों शादी करने के बाद गाजियाबाद में रहते थे। इस दौरान बीवी अपने घर पर फोन से बात करती रहती थी। फिर एक दिन शमीना ने कहा कि दोनों बदरपुर में रहेंगे। साथ में शर्त रखी कि अगर तुम धर्म परिवर्तन कर लो तो मायके वाले हम दोनों को अपना लेंगे। अनुज तैयार हो गया और धर्म परिवर्तन की औपचारिकता करवा ली। फिर बीवी ने शर्त रखी कि एक खास आयोजन के लिए जाओगे तो घर पर आना-जाना शुरू हो जाएगा। अनुज ने यह भी किया और 40 दिन के लिए विशेष आयोजन पर चला गया। लेकिन बीवी के घर जाकर रहने के बाद दोनों के बीच झगड़े होने लगे। फिर बीवी ने घर जमाई बनने की शर्त रखी। बीवी की खातिर अनुज राजी हो गया।

बीवी के मायके वालों ने अपनी लोडिंग गाड़ी चलाने के लिए अनुज को थमा दी। कहा गया कि बाहर के किसी आदमी को सैलरी देने से अच्छा है कि घर में ही पैसे आएंगे। ससुराल वालों ने 10 हजार सैलरी फिक्स कर दी। अनुज ड्राइवर बन गया। लेकिन तीन महीने गुजरने पर तनख्वाह का कुछ हिस्सा ही दिया। बाकी पैसे मांगे तो झगड़ा करने लगे। बीवी ने घर में क्लेश शुरू कर दिया। आरोप है कि बीवी ने शौहर को धमकी दी या तो चुपचाप घर पर रहो, नहीं तो केस में फंसवा दूंगी। परेशान होकर अनुज अपने माता-पिता के पास लौट आया। मंगलवार रात बीवी शमीना और उसके परिवार वालों ने इनके घर पर धावा बोल दिया। लोहे की रॉड और डंडे से अनुज की पिटाई की। धमकी देकर फरार हो गए। तंग आकर लड़के ने बदरपुर थाने में बीवी और उसके मायके वालों के खिलाफ मुकदमा दर्ज करा दिया।

Crime news | relationship disputes | Man tortured by wife | Love Jehad 


Tags

buttons=(Accept !) days=(20)

Our website uses cookies to enhance your experience. Learn More
Accept !
To Top