वॉट्सऐप, गूगल और माइक्रोसॉफ्ट की प्रिवेसी अनसेफ

अगर आपको प्रिवेसी बरकरार रखनी है, तो वॉट्सऐप, गूगल और माइक्रोसॉफ्ट से दूर ही रहिए। आपको शायद पता न हो, लेकिन मुमकिन है कि हर वक्त आप और आपकी गतिविधियों पर नजर रखी जा रही हो। ऐसा हम नहीं कह रहे हैं। प्रिवेसी के लिए काम करने वाली एक संस्था की रिपोर्ट में यह खुलासा हुआ है। आगे देखिए, क्या है रिपोर्ट में...

इलेक्ट्रॉनिक फ्रॉन्टियर्स फाउंडेशन की एक ताजा रिपोर्ट 'Who Has Your Back' में दुनिया की सबसे बड़ी तकनीकी कंपनियों को उनके यूजर्स के डेटा के मामले में पारदर्शिता और सुरक्षा के आधार पर रैंकिंग दी है। एक तरफ, वॉट्सऐप को जहां सबसे खराब रेटिंग मिली है, वहीं ऐपल और ड्रॉपबॉक्स को प्राइवेसी के मामले में सबसे अच्छा करार दिया गया है।

इस रिपोर्ट में सबसे खराब रेटिंग चैटिंप ऐप वॉट्सऐप को मिली है। वॉट्सऐप के साथ अमेरिका की सर्विस प्रोवाइडर कंपनी एटी ऐंड टी को भी सबसे खराब रेटिंग दी गई है। वॉट्सऐप भले ही फेसबुक का हिस्सा बन चुका है, लेकिन इसकी रेटिंग अलग से की गई।

फेसबुक को पॉलिसी शेयरिंग के अलावा हर मामले में अच्छी रेटिंग दी गई है। संस्था ने कहा, 'हमने इसी साल वॉट्सऐप को लिस्ट में शामिल किया और कंपनी के पास पूरे सालभर का वक्त था, जिसमें वे खूबियों पर काम कर सकें। हालांकि, हमारे मानकों के आधार पर कोई भी सुधार देखने को नहीं मिला।'

संस्था ने ऐपल, ड्रॉपबॉक्स, विकीमीडिया, वर्डप्रेस और याहू को पूरे नंबर दिए हैं। बता दें कि 2011 से इसी आधार पर रिपोर्ट तैयार कर रही संस्था ने कई बदलाव भी किए हैं और मायस्पेस जैसी कंपनियों को लिस्ट से बाहर ई कर दिया है। कंपनी के मानकों पर माइक्रोसॉफ्ट और गूगल को भी अच्छी रेटिंग नहीं दी गई है।

पांच बिंदुओं को बनाया आधार-
1- यूजर्ज्ञ डेटा सिक्यॉरिटी के लिए क्या किया जाता है?
2- क्या कंपनी यूजर्स को बताती है कि उनके बारे में सरकार ने जानकारी मांगी है?
3- क्या कंपनी ने अपनी सभी पॉलिसीज यूजर्स के साथ साझा की हैं?
4- क्या कंपनी इस बात की जानकारी देती है कि सरकान ने कीसी खास कॉन्टेंट को हटाने के लिए कहा है?
5- क्या कंपनी सरकार को बैक डोर से यूजर्स का डेटा ऐक्सेस करने देती है?

WhatsApp |  Google |  Microsoft |  WhatsApp ranked worst for users |  data privacy 

Tags

buttons=(Accept !) days=(20)

Our website uses cookies to enhance your experience. Learn More
Accept !
To Top