कार्टून फिल्म में ऐज में पोर्न फिल्म देख रहे हैं मुंबई के मासूम

मुंबई। देश की मायानगरी और आर्थिक राजधानी कहा जाने वाला शहर एक और मामले में काफी आगे बढ़ता जा रहा है। एक ताजा रिपोर्ट से पता चला है कि यहां के स्कूलों की कक्षा पांच में पढ़ने वाले अधिकांश लड़के पोर्न फिल्म देख चुके होते हैं। इस मामले में लड़कियां थोड़ा पीछे हैं और वो आठवीं कक्षा में पहुंचने पर पहली बार ऐसी फिल्म देख चुकी हैं।

इस सर्वेक्षण रिपोर्ट को बनाने के लिए मुंबई के 16 मोहल्लों और सात कॉलेजों के छात्र-छात्राओं से बातचीत की गई। रिपोर्ट के अनुसार सर्वेक्षण में शामिल 15 से 25 वर्ष के किशोर और युवकों ने बीच पहली बार नौ वर्ष की आयु में पोर्न फिल्में और साहित्य का अनुभव किया था। वहीं इसी उम्र समूह की किशोरियों और युवतियों ने 12 वर्ष की उम्र में इसे जाना था। मुंबई की एक निजी संस्था द्वारा कराए गए इस सर्वेक्षण में लगभग 1000 महिला एवं पुरुषों से बात की गई और इसे चार महीने में पूरा किया गया।

सर्वेक्षण के दौरान अधिकांश अविवाहित पुरुषों ने बताया कि उन्होंने कक्षा 5 में पहली बार पोर्न देखा था। इस श्रेणी में शामिल महिलाओं ने कक्षा 8 में रहते हुए पहली बार पोर्न देखा था। वहीं 31 प्रतिशत महिलाओं ने बताया कि सीनियर कॉलेज की पढ़ाई पूरी करने के बाद उन्होंने पहली बार पोर्न देखा था। खास बात यह है कि इनमें से अधिकांश ने मोबाइल फोन और कम्प्यूटर्स पर पहली बार पोर्न फिल्में, वीडियो और तस्वीरों को देखा था। सर्वे में शामिल 28 प्रतिशत महिलाओं ने यह भी माना कि पोर्न देखने के बाद उनके मन में बुरे विचार आए थे, इसलिए वो इसे अच्छा नहीं मानती हैं।

Tags

buttons=(Accept !) days=(20)

Our website uses cookies to enhance your experience. Learn More
Accept !
To Top