रेलवे स्टेशन पर भूतों का कब्जा, पुलिस भी डरकर भाग गई

बाड़मेर। राजस्थान किस्से कहानियों में अक्सर लोग भूत प्रेतों का जिक्र करते हैं. कई स्थान भी ऐसे है जिन्हें ऐसे किस्से-कहानियों के चलते भुतहा माना जाता रहा है लेकिन बाड़मेर में एक भूत ऐसा है जो सटीक निशाने से पत्थर फेंक कर सरकारी कर्मचरियों को परेशान कर रहा है। बाड़मेर के शिव विद्युत स्टेशन में इन दिनों हर रात पत्थर बरसते हैं. साथ ही अजीब सी डरावनी आवाजें आती हैं. इस अजीब तरह के भूत ने पुलिस से लेकर एसडीएम तक के नाक मे दम कर रखा है.

दरअसल, बाड़मेर जिला मुख्यालय से 60 किमी दूर स्थित इस सब स्टेशन में हर रात दहशत भरी होती है.  रात की पारी में काम करने वाले कर्मचारी डर के मारे सब स्टेशन को खुला छोड़कर कही ओर चले जाते हैं. क्‍योंकि रात ढलने के बाद लोगों के घरों को उजियारा देने वाला यह सब स्टेशन भूतों की बस्ती में बदल जाता. जहां सिर्फ आसमान से पत्थर बरसते हैं, लोगों के दौड़ने की आवाजें पूरी रात आती हैं.  लोग मानने लगे हैं कि सब स्टेशन में भूतों का बसेरा होता है.  जिन्‍हें रात ढलने के बाद इस सब स्टेशन में किसी इंसान का रुकना पसन्द नहीं  है.

23 मई से शुरू हुई पत्‍थरों की बारिश
23 मई से पहले इस सब स्‍टेशन पर हालात सामान्‍य थे. शिव में स्थित इस सब स्टेशन में पिछले 23 मई से हर रात पत्थर बरसते हैं. हैरानी की बात यह है कि पत्थर किसी को छूते तक नहीं हैं. पिछली 23 मई से हर रात को विधुत सब स्टेशन की हर रात दहशत भरी होती है.  कर्मचारियों में रहस्यमयी तरीके से पत्थर बरसने का इतना डर है कि शाम ढलने के बाद कोई भी कर्मचारी अकेला इस सब स्टेशन में नहीं आता और अगर जरुरत पडती है तो कर्मचारी समूह बनाकर आते  हैं. स्‍थानीय निवासी मगसिंह का कहना है कि कुछ साल पहले इस सब स्टेशन में दो बिजली कर्मचारियों की कंरट की वजह से मौत हो गई थी.  तब से इस सब स्टेशन में इस तरह की गतिविधियां देखने को मिल रही हैं.

आला अधिकारियों तक पहुंची बात
शिव सब स्टेशन में हर रात पत्थर बरसने की बात हवा मे तीर चलना नहीं है. प्रत्‍येक रात को पत्थर बरसने से दहशत मे आए कर्मचारियों ने उच्च अधिकारियों को पत्र लिखकर जब यह बाम बताई तो इस बात पर विश्‍वास नहीं करते हुए शिव एईएन कैलाश चौधरी एक रात सब स्टेशन मे रुक गए. शिव एईन कैलाश चौधरी ने भी उस रात उस दहशत को महसूस किया कई पत्थर अचानक से शिव एईन की चारपाई पर गिर गए. लेकिन एक भी पत्थर शिव एईएन को नहीं लगा. शिव एईएन ने एक पत्र इलाके के एसडीएम को लिखा. इस पर शिव एसडीएम ने शिव थानाधिकारी को जांच सौपकर आसमान से रहस्यमयी तरीके से पत्थर बरसने के कारण पता लगाने को कहा इस पर पुलिस ने एक रात पहरा दिया. इस रात को भी पुलिस की मौजूदगी में आसमान से जमकर पत्थर बरसे.

दहशत बरकरार
बहरहाल शिव में हर रात बिजली कर्मचारी डर और दहशत के माहौल में होते है. तांत्रिकों से लेकर सरकारी तंत्र तक इस रहस्यमयी निशानेबाज भूत की खोज में जुटा है. ऐसे में उम्मीद यह की जा रही है कि जल्द ही भूत के रहस्य से पर्दा हट सकता है और कर्मचारियों का डर भी जल्द ही खत्म हो जाएगा.

Tags

buttons=(Accept !) days=(20)

Our website uses cookies to enhance your experience. Learn More
Accept !
To Top