मात्र 500 रुपए में लड़कियों को विदेशी विमान में एंट्री

नई दिल्‍ली। भूकंप की त्रासदी झेल रहे नेपाल में पुलिस ने मानव तस्करी के एक बड़े मामले का भंडा-फोड़ किया है। इस संबंध में पुलिस ने 2 नेपाली एजेंटों के साथ दिल्ली में एयर इंडिया के 2 कर्मचारियों को गिरफ्तार किया है।

सूत्रों के अनुसार, दिल्ली पुलिस की हिरासत में आए 2 नेपाली एजेंटों विष्णु तमांग और दयाराम ने एयर इंडिया के 2 कर्मचारियों कपिल कुमार और मनीष गुप्ता के साथ मिलकर इस अपराध को अंजाम दिया। मानव तस्करी करने वाले इस गिरोह ने भूकंप के बाद करीब 250 नेपाली लड़कियों को अच्छी नौकरी और वेतन का झांंसा देकर दुबई भेज दिया।

पुलिस का कहना है कि इस गिरोह का खुलासा तब हुआ जब 21 जुलाई को इंदिरा गांधी अंतरराष्ट्रीय अड्डे पर 7 नेपाली लड़कियां फर्जी दस्तावेजों के आधार पर दुबई जाने की फिराक में थीं। सी.आई.एस.एफ. और ईमीग्रेशन ने शक होने इनके दस्तावेजों जैसे पासपोर्ट, वीजा और बोर्डिंग पास की जांच की। हांलाकि इन लड़कियों को एयरपोर्ट की इमिग्रेशन जांच से बचाने के लिए एक खास रणनीति के तहत भेजा गया था।

पुलिस के अनुसार, एयर इंडिया के कर्मचारी एक लड़की के भेजने के एवज में 500 रुपए लेते थे जबकि दलाल इससे लाखों रुपये कमा रहे हैं। अब इस मामले में राजू नाम के एजेंट की तलाश की जा रही है। कहा जा रहा है कि यह गिरोह काफी बड़ा हो सकता है। इस मामले की जानकारी नेपाल सरकार को दे दी गई है।

buttons=(Accept !) days=(20)

Our website uses cookies to enhance your experience. Learn More
Accept !
To Top