पेट के अंदर साढ़े चार करोड़ की ड्रग्स छिपाकर घूम रही थी महिला

अमृतसर (पंजाब). 26 जून को पाकिस्तान बॉर्डर पर जांबिया की एक महिला बेहोश मिली थी। अगले दिन हॉस्पिटल में उसकी मौत हो गई थी। जांबिया एम्बेसी से इजाजत मिलने के बाद 3 जुलाई को जब उसका पोस्टमॉर्टम कराया गया तो पता लगा कि महिला ड्रग स्मगलर थी और उसकी मौत पेट में रखे ड्रग कैप्सूल फटने से हुई थी। शनिवार को उसे एक कब्रिस्तान में दफना दिया गया।

यह है मामला
पिछले महीने की 26 तारीख को पुलिस ने एक जांबियन महिला को संदिग्ध हालत में पाकिस्तान बॉर्डर के पास घूमते देखा। यह महिला बार-बार बेहोश हो रही थी और पुलिस को अपने पास नहीं आने दे रही थी। बाद में पुलिस ने उसे हॉस्पिटल में एडमिट कराया जहां 27 जून को उसकी मौत हो गई। 28 साल की कैलथा टिवाना नाम की इस महिला का पोस्टमॉर्टम छह दिनों तक इसलिए नहीं हो पाया क्योंकि जांबियन एम्बेसी ने इसकी इजाजत नहीं दी। आखिरकार 3 जुलाई को पोस्टमॉर्टम की इजाजत मिली। पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट से पता लगा कि महिला के पेट में 50 ड्रग कैप्सूल थे। इनमें से 28 पेट में ही फट गए और इसी कारण महिला की मौत हो गई। पुलिस के अनुसार यह महिला ड्रग स्मगलर थी।

दफनाने में भी परेशानी
शनिवार को उसको दफनाने में भी पुलिस को परेशानी का सामना करना पड़ा। दरअसल, कई कब्रिस्तान उसे दफनाने के लिए जगह देने को तैयार नहीं थे। बाद में एक कब्रिस्तान का प्रशासन इसके लिए तैयार हो गया।

साढ़े चार करोड़ रुपए के ड्रग कैप्सूल
जानकारी के मुताबिक, पोस्टमॉर्टम के दौरान महिला के पेट में मिले 50 ड्रग कैप्सूल की इंटनेशनल मार्केट वैल्यू करीब साढ़े चार करोड़ रुपए है। इस महिला के परिवार को भी पुलिस ने सूचना दी थी लेकिन कोई नहीं पहुंचा। महिला बिजनेस वीजा पर भारत आई थी।

Drug smuggler lady | amritsar | crime

Tags

buttons=(Accept !) days=(20)

Our website uses cookies to enhance your experience. Learn More
Accept !
To Top