कलेक्टर बनेगा किसान का बेटा

file photo
समस्तीपुर। किसान के बेटों को मुख्यमंत्री बनते तो आपने कई बार देखा होगा परंतु एक ठेठ किसान का बेटा अब कलेक्टर बनेगा। सरोज कुमार पतैलिया गांव के किसान शिवनंदन चौरसिया व माता सरस्वती देवी के पुत्र हैं। शिनवंदन ठेठ किसान हैं, बच्चे की पढ़ाई पर कभी ध्यान नहीं दिया। सरोज अपनी मर्जी से जो पढ़ता रहा, उसका समर्थन किया। 

सरोज ने 4थी बार में आईएएस पास की है। लगातार 3 बार हारने के बाद भी सरोज ने हार नहीं मानी। उनका कहना है कि हर पराजय के बाद संघर्ष का आनंद बढ़ जाता है। चुनौतियों से जूझना ही जिंदगी है। 

इससे पूर्व वे आरपीएफ में असिस्टेंट कमांडेन्ट के पद पर गुड़गांव व असम में पदस्थापित थे। वर्ष 2013 में उन्होंने जेआरएफ की परीक्षा में भी सफलता पाई थी। सरोज नरहन जेपीएनएस उच्च विद्यालय से 2002 में मैट्रिक की परीक्षा पास की थी जिसमें उन्हें 59 प्रतिशत अंक मिले थे। आइएससी की परीक्षा जनता कॉलेज से 2004 में पास की। जिसमें उन्हें 64 प्रतिशत अंक मिले। स्नातक कला एवं स्नातकोत्तर कला की परीक्षा उन्होंने इग्नू से पास की। चौथी बार में आइएएस की परीक्षा में सफल होकर 984 वां रैंक प्राप्त किया है। उनका क्रमांक 032148 है। 

Tags

buttons=(Accept !) days=(20)

Our website uses cookies to enhance your experience. Learn More
Accept !
To Top