बच्चों को जानवरों के टीके लगाए, किसी का पैर तोड़ा, किसी को गंजा किया

लुधियाना। लुधियाना में बच्चा चुराने वाला एक गिरोह पकड़ा गया। गिरोह से बरामद एक बच्चे ने बताया कि ये अंकल बहुत गंदे हैं। तड़के तीन बजे से लेकर शाम छह बजे तक मुझसे भीख मंगवाते थे। जितने रुपए इकट्‌ठे होते सब छीन लेते व हाथ-पांव बांध कर नशा देकर सुला देते। यूपी के रोहित को राजू उर्फ रिंकू ने 27 मई को रेलवे स्टेशन के बाहर से अगवा किया था। मंगलवार को पुलिस ने रोहित को यूपी से आई उसकी माता रमिला देवी को सौंप दिया। दूसरी ओर, पुलिस आरोपी राजू से पूछताछ कर रही है।

बच्चों को लगाता था जानवरों वाले टीके
आरोपी ने बताया, "वह बच्चों को बेहोश करने के लिए गाय-भैसों के टीके लगाता था। इन टीकों में इतना तेज नशा होता था कि बच्चा पूरी तरह बेहोश हो जाता था, साथ ही किसी ने उसे बताया था कि इन टीकों से बच्चों का चेहरा भी बदल जाता है।"

सातवीं में पढ़ने वाले 13 साल के रोहित ने बताया, "घरवालों ने डांटा तो 25 मई को मैं घर से भाग लुधियाना आ गया। यहां पीपल चौक ग्यासपुरा में मौसी-मौसा के पास जाना था। स्टेशन से निकलते ही मुझे अंकल मिले। अंकल मुझे मौसा के घर छोड़ने का कह साथ ले गए। बिस्कुट, कोल्ड ड्रिंक और फिर स्टेशन के निकट दुकान में मीट के साथ रोटी खिलाई। उसके बाद अंकल ने एक ऑटो में बिठाया व मेरे मुंह पर रूमाल रख दिया। होश आया तो एक कमरे में था, हाथ-पैर बंधे हुए थे। वहां पांच बच्चे और थे। अंकल ने मुझे भीख मांगने को कहा। मना करने पर पीटा गया, रोटी नहीं दी। आखिर भीख मांगनी पड़ी। मैं जब भी बाहर जाता एक औरत तथा एक आदमी मेरे पीछे रहते। शाम को बच्चों को एक ही रस्सी से बांधने के बाद नशा सुंघा सुला देते। कुछ दिन पहले कहा, अब बच्चों को कारों से सामान चुराने की ट्रेनिंग दी जाएगी।"

भीख ज्यादा मिले इसलिए तोड़ा था रोहित का पैर
राजू ने पूछताछ में बताया कि उसने एक रात रोहित का पैर तोड़ दिया था। एक तो उसके भागने का डर था। दूसरे, जख्मी बच्चे को भीख ज्यादा मिलेगी। वह खुद नशे में था जिस कारण रोहित को ज्यादा चोट लग गई। एक्सीडेंट की बात कह उसे अस्पताल में भर्ती कराया था।

सौरव ने नहीं पहचाना अपने घरवालों को
सबसे पहले बरामद हुए बच्चे सौरव की मां सुमन ने बताया कि जब सौरव को घर लाया गया तो नशे के कारण उसकी हालत इतनी खराब थी कि उसने किसी को नहीं पहचाना। अगले दिन उसे होश आया तो उसने बताया कि आरोपी उसे रोज भीख मांगने के लिए पीटता था। शेरपुर चौकी इंचार्ज मुकेश कुमार के मुताबिक, सलीम हर जुर्म में बराबर का भागीदार है। जल्द ही उसे भी काबू कर लिया जाएगा। आरोपियों के और कई साथी होने का पता चला है। 

Child harassment | crime | ludhiana | gang of child stealing

Tags

buttons=(Accept !) days=(20)

Our website uses cookies to enhance your experience. Learn More
Accept !
To Top