दुखी हो गए धोनी, नहीं करेंगे स्वच्छता अभियान की ब्रांडिंग

रांची। भारतीय वनडे टीम के कप्तान महेन्द्र सिंह धोनी झारखंड सरकार के स्वच्छ भारत अभियान का ब्रांड एम्बेसेडर बनने से इनकार कर सकते हैं। इसके पीछे अभियान में हो रही लापरवाही को कारण बताया जा रहा है। धोनी वर्तमान में झारखंड के पल्स पोलियो, वन एवं पर्यावरण और साक्षरता अभियान के भी एम्बेसेडर हैं।

झारखंड के पेयजल विभाग के प्रधान सचिव अमरेन्द्र प्रताप सिंह ने बताया कि, विभाग के एक वरिष्ठ अधिकारी ने धोनी से इस बारे में बात की है और अब धोनी के जवाब का इंतजार है। सूत्रों के अनुसार सरकार के इस मुद्दे पर ढीले और लापरवाही भरे रवैये के कारण धोनी इससे नाराज हैं। इसके साथ ही धोनी झारखंड पर्यटन का प्रस्ताव भी ठुकरा सकते हैं। हालांकि धोनी की तरफ से इस पर कोई आधिकारिक बयान नहीं आया है।

धोनी के एक रिश्तेदार का कहना है कि, धोनी कई सरकारी अभियानों का चेहरा बने हैं लेकिन कोई सकारात्मक रिस्पॉन्स नहीं आया। सरकार की सुस्त भागीदारी को देखते हुए धोनी ने अब किसी और सरकारी अभियान में साथ नहीं देने का मन बनाया है। वहीं धोनी के एक पारिवारिक दोस्त का कहना है कि राज्य सरकार द्वारा प्रस्तावित क्रिकेट एकेडमी के लिए अभी तक रांची में जमीन अलॉट नहीं की गई है। धोनी इससे भी नाराज हैं

Ranchi | dhoni | swachh bharat abhiyaan |  Clean India Campaign 

Tags

buttons=(Accept !) days=(20)

Our website uses cookies to enhance your experience. Learn More
Accept !
To Top