कैब में अमेरिकन टूरिस्ट युवती से छेड़छाड़

नईदिल्ली। इनोवा कैब में अमेरिकी युवती से छेड़छाड़ के आरोपी टैक्सी ड्राइवर देवराज चौहान को अरेस्ट कर लिया गया है। ड्रायवर ने यह वारदात आगरा में उस समय की जब अमेरिकन स्टूडेंट बिल्कुल अकेली और ड्रायवर पर डिपेंड थी।

अमेरिका में 20 साल की यूनिवर्सिटी स्टूडेंट ने 18 जुलाई को महाराष्ट्र के अहमदनगर के तोपखाना थाने में कंप्लेंट देकर दिल्ली में हुई इस वारदात की जानकारी दी थी। लड़की के मुताबिक, वह दिल्ली के टूरिस्ट स्पॉट देखने के मकसद से 21 जुलाई को आईजीआई एयरपोर्ट उतरी थी। दिल्ली आने से पहले उसने 22 हजार 500 रुपये का ऑनलाइन पेमेंट टूरिस्ट एजेंसी को कर यहां रहने और टैक्सी का इंतजाम करने के लिए कहा था।

टूरिस्ट एजेंसी के पहल पर एयरपोर्ट पर देवराज चौहान नामक ड्राइवर ने इनोवा में उसे रिसीव किया था। देवराज ने उसे सीआर पार्क में होटल में ठहराया। अगले दिन वह दिल्ली घूमने के बाद 23 जुलाई को उसी इनोवा में आगरा ताजमहल देखने गई। अगले दिन युवती पूरा दिन होटल में आराम करती रही। शाम को उसे ड्राइवर का एसएमएस आया कि शॉपिंग और डिनर कराने वह ले जा सकता है। युवती उसके साथ मार्केट चली गई।

डिनर के बाद रात 11 बजे देवराज उसे लेकर होटल की ओर चला। उसने इनोवा सुनसान जगह ले जाकर खड़ी कर दी और पिछली सीट पर जाकर उससे अश्लील हरकत की। दूसरे देश में अकेली होने की वजह से लड़की बेहद घबरा गई। इसके बाद ड्राइवर ने उसे अगली सीट पर बैठने पर मजबूर किया और रास्ते भी अश्लील हरकत की। इसके बाद उसने होटल से पहले एक बार फिर इनोवा रोककर छेड़छाड़ की।

लड़की ने होटल पहुंचकर अमेरिका में फोन कर अपनी मां को इस घटना के बारे में बताया। उसकी मां ने टूरिस्ट एजेंसी के मालिक को ईमेल किया। अगले दिन एजेंसी का मैनेजर अपनी पत्नी के साथ होटल आकर लड़की से मिला और ड्राइवर की ओर से उससे माफी मांगी, लेकिन पुलिस को खबर देने के बजाय 25 जुलाई को एयरपोर्ट पर ले जाकर मुंबई जाने वाली फ्लाइट में सवार कर दिया।

लड़की मुंबई से आध्यात्मिक टूर पर महाराष्ट्र के शहर अहमदनगर गई। वहां उसे अपने अमेरिकी साथी मिले तो उसकी हिम्मत बढ़ी। उसने थाने पहुंचकर दिल्ली में हुई वारदात की जानकारी दी। अहमदनगर पुलिस ने उसके बयान की वीडियो रिकॉर्डिंग कर आईपीसी की धारा 354 और 506 के तहत छेड़छाड़ और धमकी देने के आरोप में जीरो एफआईआर दर्ज कर ली।

अहमदनगर पुलिस का बयान है कि जीरो एफआईआर दिल्ली पुलिस को भेजी जाएगी, लेकिन गुरूवार शाम तक सीआर पार्क थाने में यह ईमेल नहीं आने की वजह से एफआईआर दर्ज नहीं हुई थी। हालांकि सीआर पार्क ने वारदात की खबर मिलने पर ड्राइवर और इनोवा की शिनाख्त कर ली। पुलिस उसकी तलाश में टैक्सी स्टैंड और कोटला मुबारकपुर में उसके घर पहुंची, लेकिन वह नहीं मिला। पुलिस को पता चला है कि वह हिमाचल प्रदेश का मूल निवासी है। डीसीपी मनदीप सिंह रंधावा के मुताबिक, एफआईआर दर्ज कर कानूनी कार्रवाई की जाएगी।


buttons=(Accept !) days=(20)

Our website uses cookies to enhance your experience. Learn More
Accept !
To Top