रूट कैनॉल में मौसूम की मौत

पुणे में 3 साल की बच्ची की मौत दांत का इलाज करवाने के दौरान हो गई. कोथरुड पुलिस ने मौत के मामले में एमडी डेंटिस्ट डॉ. अंकुर कुलकर्णी के खिलाफ गैर इरादतन हत्या का मामला दर्ज किया है.  बच्ची के परिजनों की ओर से इस मामले की शिकायत जिला मेडिकल नेग्लिजेंस समिति को की गई थी. इन्हीं के निर्देशों के बाद पुलिस ने मामला दर्ज किया है. फिलहाल आरोपी डेंटिस्ट गिरफ्त से बाहर है.

जानकारी के मुताबिक, हिंजवाड़ी की एक आईटी कंपनी में काम करने वाले निरंजन रेवातकर(35) की तीन साल की बच्ची सानवी के दांत में 26 जून को दर्द हुआ. निरंजन बच्ची को लेकर कोथरुड के एक डेंटिस्ट के पास गए. डेंटिस्ट ने बच्ची के रूट कैनॉल का ऑपरेशन करने सलाह दी और 29 जून को इसी बच्ची के परिजनों की अनुमति के बाद ऑपरेशन शुरू किया. तकरीबन 15 मिनट के इस ऑपरेशन के दौरान ही बच्ची की मौत हो गई. बच्ची की मौत के बाद निरंजन ने डेंटिस्ट पर लापरवाही का आरोप लगाते हुए पुलिस में शिकायत दर्ज करवाई.

निरंजन का कहना है कि डेंटिस्ट ने पहले बच्ची को बेहोशी की दवाई दी और फिर ऑपरेशन शुरू किया. ऑपरेशन के बीच में बच्ची की आंख अचानक खुली और उसकी आंखें बड़ी हो गई. इसके बाद उसके मुंह से खून निकलने लगा. निरंजन का आरोप है की ऑपरेशन के दौरान डेंटिस्ट ने एक बार भी बच्ची की नब्ज और हार्टबीट चेक नहीं की और ऑपरेशन करता रहा. इस दौरान बच्ची के मुंह से खून निकलने लगा लेकिन डॉक्टर ऑपरेशन करता रहा.

लापरवाही से गई जान
बच्ची की बिगड़ती हालत देख डेंटिस्ट ने ऑपरेशन रोका और बच्ची को किसी दूसरे अस्पताल ले जाने को कहा. इसके बाद निरंजन बच्ची को लेकर पास के एक अन्य अस्पताल पहुंचे जहां डॉक्टरों ने बच्ची को मृत घोषित किया. हालांकि, पुलिस का कहना है कि बच्ची की मौत किन वजहों से हुई इस बात का खुलासा पोस्टमार्टम रिपोर्ट से भी नहीं हुआ है. बच्ची का विसरा जांच के लिए भेज दिया गया है. पुलिस ने आरोपी डेंटिस्ट के खिलाफ आईपीसी की धारा 304 A के तहत मामला दर्ज किया है.

dentist | crime | murder | operation |   Dr Ankur Kulkarni 

Tags

buttons=(Accept !) days=(20)

Our website uses cookies to enhance your experience. Learn More
Accept !
To Top