Amitabh Bachchan की वसीयत में Abhishek और Shweta बराबर

नई दिल्ली: देश में अमिताभ बच्चन का नाम बच्चे बच्चे की जुबान पर रहता है. कई बच्चों के दादा की उम्र के बिग बी को आजकल के बच्चे भी ऐसे पहचानते हैं जैसे वह उनके जमाने के हीरो हों. कारण साफ है कि अमिताभ ने उम्र के इस पड़ाव में भी ऐसे किरदार निभाए हैं कि बच्चों के दिमाग पर छा गए हैं.

वैसे बिग बी ने केवल फिल्मों के जरिए ही लोगों को दिलो दिमाग पर कब्जा जमाया हो ऐसा नहीं है. अमिताभ बच्चन ने सार्वजनिक जीवन में अपनी सादगी, संयम और भाषा की पकड़ से भी लोगों के बीच अपनी मुकम्मल जगह बनाई है.

अमिताभ बच्चन ने जब भी मौका मिला आम लोगों को संदेश देने का काम किया है. उन्होंने कई ऐसी फिल्में की हैं जो लोगों को संदेश देती है. कई ऐसे विज्ञापन किए हैं जो लोगों को संदेश देते हैं. कई ऐसे कार्यक्रमों के ब्रैंड एंबैसेडर रहे हैं जो सार्वजनिक जीवन के स्तर को उठाने वाले हैं. सबसे बड़ी बात यह कि जहां ऐसे विज्ञापन और कार्यक्रमों को लिए करोड़ों रुपये की फीस ली जाती है वहां अमिताभ बच्चन ने ऐसे काम बिना किसी फीस के किए हैं.

कई बार अमिताभ बच्चन पर यह भी आरोप लगते हैं कि कई मुद्दों पर वह अपनी राय बेबाकी से नहीं रखते हैं. कहा जाता है कि वह किसी पक्ष को नाराज नहीं करना चाहते हैं. इसका दूसरा पहलू यह रहा है कि अमिताभ बच्चन ने अपने को और अपने परिवार को विवादों से दूर रखने का यही मंत्र अपना रखा है.

अब अमिताभ बच्चन 74 वर्ष के हो गए हैं. आज अमिताभ ने एक ऐसा ट्वीट किया है जिसने एक मिसाल कायम की है. अमिताभ बच्चन अपने एक ट्वीट के साथ एक तस्वीर साझा की है जिसमें में एक संदेश दे रहे हैं. इस संदेश में वह कह रहे हैं कि वह जो कुछ भी छोड़ कर जाएंगे, यानि अपनी संपत्ति से संबंधित वह उनके बेटे अभिषेक बच्चन और बेटी श्वेता बच्चन में बराबर बराबर बांट दिया जाएगा.

मेगास्टार अमिताभ बच्चन जो हमेशा ही नारी सशक्तिकरण और लैंगिक समानता की बात करते हैं, उन्होंने अपनी वसीयत को लेकर बड़ा खुलासा किया है। बिग बी ने कहा है कि उनके मरने के बाद उनकी सारी संपत्ति उनके बेटे और बेटी में समान रूप से बांट दी जाए।

बता दें कि एक हफ्ते बाद ही अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस मनाया जाएगा और उससे पहले ही बिग बी ने अपनी इस स्टेटमेंट के जरिए उन लोगों को कड़ा संदेश दे दिया है जो बेटों को ही सबकुछ मानते हैं

अमिताभ बच्चन ने एक बार फिर लिंग समानता को सपॉर्ट करते हुए सोशल साइट पर अपना पक्ष रखा है। ट्विटर का सहारा लेते हुए वह बेटा-बेटी के फर्क को खत्म करने की एक मजबूत पैरवी करते नज़र आ रहे हैं। अमिताभ ने इसी के साथ अपनी वसीयत भी दुनिया के सामने पेश कर दी है। 

अमिताभ बच्चन ने अपने इस संदेश में उन्होंने #WeAreEqual और #genderequality हैशटैग के साथ लिखा है, 'मेरी मौत के बाद जो भी सम्पत्ति मैं छोड़ जाऊंगा वह मेरे बेटे और बेटी के बीच बराबर हिस्सों में बांट दिया जाए।'

अमिताभ बच्चन की दो संतान हैं, बेटा अभिषेक बच्चन और बेटी श्वेता नंदा। यानी अमिताभ के बाद उनकी सम्पत्ति पर उनके बेटे अभिषेक बच्चन और बेटी श्वेता बच्चन नंदा का बराबर का हक होगा। अमिताभ देश के लिए एक चेंज मेकर माने जाते हैं और उनका हर काम कम से कम किसी खास मुद्दे को बहस तक खींच लाने का दम जरूर रखता है। 

अमिताभ जेंडर इक्वॉलिटी (लिंग समानता) के बहुत बड़े समर्थक रहे हैं और पिछले साल अपनी फिल्म 'पिंक' की वजह से इस विषय को लेकर काफी चर्चा में रहे थे। इस फिल्म की रिलीज़ से पहले अमिताभ ने अपनी पोती और नातिन के लिए एक खुला ख़त लिखा था, जिसमें उन्हें बिना डर, बेझिझक अपने दम पर आगे बढ़ने के लिए उन्होंने प्रोत्साहित किया था। 
Share on Google Plus

About Yuva Bhaskar

This is a short description in the author block about the author. You edit it by entering text in the "Biographical Info" field in the user admin panel.

0 comments:

Post a Comment