Virender Sehwag निसंदेह एक बेहतरीन खिलाड़ी हैं: Javed Akhtar

मशहूर शायर और गीतकार जावेद अख्तर ने गुरमेहर विवाद मामले में क्रिकेटर वीरेन्द्र सहवाग की टिप्पणी पर अपनी आलोचनाओं के कड़े शब्द वापस ले लिए हैं। दरअसल, जावेद अख्तर ने गुरमेहर पर किए गए टिप्पणी को लेकर पहलवान योगेश्वर दत्त और क्रिकेटर वीरेंद्र सहवाग की आालेचना की थी।

अख्तर ने ट्विटर पर लिखा है, 'चूंकि सहवाग निसंदेह एक बेहतरीन खिलाड़ी हैं और वह स्पष्ट कर चुके हैं कि वह सिर्फ एक मजाक कर रहे थे और वह गुरमेहर के खिलाफ नहीं, इसलिए मेरे जो शब्द जरूरत से ज्यादा कठोर थे उन्हें मैं वापस लेता हूं।'

पिछले दिनों जावेद अख्तर ने अपने ट्वीट में नाराजगी जाहिर करते हुए लिखा था, 'यदि कोई बमुश्किल पढ़ा-लिखा खिलाड़ी या पहलवान एक शहीद की शांतिप्रिय बेटी को ट्रोल करता है तो यह बात समझ आती है, लेकिन कुछ पढ़े-लिखे लोगों को क्या हो गया है।' हालांकि जावेद अख्तर की यह बात खिलाड़ियों के फैन्स को रास नहीं आई और उनके इस ट्वीट के बाद ही ट्विटर पर लोग दोनों खिलाड़ियों के समर्थन में उतर आए और जावेद अख्तर की आलोचना करने लगे।

दरअसल, गुरमेहर कौर करगिल युद्ध में शहीद हुए कैप्टन मनदीप सिंह की बेटी हैं। दिल्ली यूनिवर्सिटी के रामजस कॉलेज में अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (एबीवीपी) और वामपंथ छात्र संगठनों की बीच हुई हिंसक झड़प के बीच गुरमेहर कौर की एक पुरानी तस्वीर सोशल मीडिया में वायरल हो गई, जिसमें उनके हाथ में एक तख्ती पर लिखा है, 'पाकिस्तान ने मेरे पिता को नहीं मारा, उन्हें जंग ने मारा है।' गुरमेहर की इसी तस्वीर पर वीरेंद्र सहवाग ने एक ट्वीट के जरिए तंज कसते हुए वैसी ही अपनी एक फोटो भी ट्वीट कर दी, जिसमें उनके हाथ में एक तख्ती है और उस पर लिखा है, 'मैंने नहीं मेरे बल्ले ने दो तिहरे शतक मारे थे।
Share on Google Plus

About Yuva Bhaskar

This is a short description in the author block about the author. You edit it by entering text in the "Biographical Info" field in the user admin panel.

0 comments:

Post a Comment