28 अप्रैल को बेंगलुरू बंद रहेगा ,Sathyaraj से चाहिए माफ़ी

साल 2017 की सबसे चर्चित फिल्म 'बाहुबली 2' 28 अप्रैल को रिलीज होने वाली है फिल्म बाहुबली में कट्टप्पा की भूमिका निभा रहे सत्यराज ने करीब नौ साल पहले तमिलनाडु और कर्नाटक के बीच कावेरी नदी विवाद के दौरान कथित रूप से कन्नड़-विरोधी टिप्पणी की थी. सत्यराज तमिलनाडु के रहने वाले हैं. राजामौली का कहना है कि सोशल मीडिया में आया वीडियो देखने से पहले तक टीम को अभिनेता की टिप्पणी की जानकारी नहीं थी. निर्देशक एसएस राजामौली ने गुरुवार को खुद को और बाहुबली-2 की टीम को अभिनेता सत्यराज की उस टिप्पणी से दूर रखने का प्रयास किया, जिसके कारण फिल्म को कर्नाटक में रिलीज करने के खिलाफ प्रदर्शन हो रहे हैं.ऐसे में कर्नाटक में फिल्म पर बैन लोगो को निराश जरूर कर रहा है। इसी विवाद को शांत करने के लिए 'बाहुबली 2' की टीम ने कर्नाटक फिल्म चेंबर के चेयरमैन सा रे गोविंद से  बातचीत कर मामला सुलझाने की कोशिश की है।

अपने आधिकारिक ट्विटर पेज पर निर्देशक ने एक वीडियो संदेश में कहा, ''निर्माता और मैं इस मामले पर स्पष्टीकरण देना चाहते हैं. टिप्पणी ने आप  में से कुछ लोगों को आहत किया होगा, लेकिन हमारा उससे कोई लेना-देना नहीं है. वह उनकी व्यक्तिगत टिप्पणी है और करीब नौ साल पहले की गयी थी.'' सत्यराज द्वारा एक कन्नड़ सामाजिक कार्यकर्ता के खिलाफ की गयी कथित ''अपमानजनक'' टिप्पणी का वीडियो वायरल होने के बाद विवाद शुरू हुआ है. राजामौली ने कहा कि सत्यराज द्वारा की गयी टिप्पणी का फिल्म निर्माताओं से कोई लेना-देना नहीं है.

उन्होंने यह भी रेखांकित किया कि तब से अब तक सत्यराज की कई फिल्में रिलीज हुई हैं, 'बाहुबली' भी दिखायी गयी थी. निर्देशक ने कहा, ''जैसे आपने बाहुबली भाग एक को स्वीकार किया और उसकी प्रशंसा की, मैं आपसे अनुरोध करता हूं कि भाग दो को भी उतना ही प्रेम दें. सत्यराज इस फिल्म के निर्माता और निर्देशक नहीं हैं. वह इससे जुड़े विभिन्न कलाकारों में से एक हैं.''

उन्होंने कहा, ''यदि आप फिल्म की रिलीज टालते हैं तो, इससे :सत्यराज ज्यादा फर्क नहीं पड़ेगा. लेकिन उनके द्वारा की गयी टिप्पणियों का गुस्सा फिल्म पर उतारना सही नहीं है.'' निर्देशक एसएस राजामौली ने कहा कि सत्यराज को ''स्थिति से वाकिफ करा दिया गया है'' लेकिन टीम इससे ज्यादा कुछ नहीं कर सकती.

उन्होंने कहा, ''मैं आपसे अनुरोध करता हूं कि हमें इस मामले से ना जोड़ें, क्योंकि हम इससे कहीं जुड़े हुए नहीं हैं. हम चाहते हैं कि आपका प्रेम बना रहे.'' फिल्म के निर्माता शोबू यारलागड्डा ने आशा जतायी कि आपसी सहमति से मामले को सुलझा लिया जाएगा. उन्होंने कहा, ''यह बेहद संवेदनशील मुद्दा है और मैं इसपर ज्यादा टिप्पणी नहीं करना चाहता. मैं सिर्फ यह कहना चाहता हूं कि, हम सभी संबंधित लोगों के हितों में मुद्दों को सहमति से सुलझाएंगे.'' लेकिन इन अपीलों से कन्नड़ संगठनों का गुस्सा शांत नहीं हुआ है. उन्होंने फिल्म के रिलीज पर 28 अप्रैल को बेंगलुरू बंद का आह्वान किया है. वह चाहते हैं कि सत्यराज अपनी टिप्पणी के लिए माफी मांगें.  

राजामौली की अपील पर प्रतिक्रिया देते हुए, कन्नड़ संगठनों के प्रधान संगठन 'कन्नड़ ओकूटा' के प्रमुख वटल नागराज ने कहा, ''हम फिल्म या राजामौली के खिलाफ नहीं हैं. लेकिन जब तक सत्यराज बिना शर्त माफी नहीं मांगते, हमारा प्रदर्शन जारी रहेगा.'' उन्होंने कहा, ''28 अप्रैल को बेंगलुरू बंद रहेगा और पूरे राज्य में प्रदर्शन होगा. हम सत्यराज की मांगी से इतर कुछ भी स्वीकार नहीं कर सकते.''

Share on Google Plus

About Yuva Bhaskar

This is a short description in the author block about the author. You edit it by entering text in the "Biographical Info" field in the user admin panel.

0 comments:

Post a Comment